कोलेस्ट्रॉल कम करने के लिए घरेलू उपाय | Home Remedies for Cholesterol

Home Remedies for Cholesterol in Hindi: आजकल हर व्यक्ति किसी न किसी बीमारी से प्रभावित हो रहा है। इन बीमारियों को ठीक करने के लिए हम हजारों और लाखों रुपये खर्च कर रहे हैं। इन सभी बीमारियों से एक High Cholesterol है।

कोलेस्ट्रॉल को सबसे तेजी से फैलने वाली बीमारी माना जाता है और भारत में लगभग 70% से 80% लोग इस बीमारी से पीड़ित हैं। कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने के लिए घरेलू उपचार सबसे अच्छा विकल्प माना जाता है।

इस लेख में, हम कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने के आसान और प्रभावी घरेलू उपचारों के बारे में बात करेंगे, जिनकी मदद से Cholesterol Levels को आसानी से कम किया जा सकता है।

कोलेस्ट्रॉल क्या है? | What is Cholesterol in Hindi?

कोलेस्ट्रॉल यकृत द्वारा उत्पादित एक चिकना पदार्थ है। कोलेस्ट्रॉल का मुख्य कार्य कोशिकाओं को बनाना और सूर्य से Vitamin D लेना है। यह शरीर के लिए उतना ही महत्वपूर्ण है जितना कि रक्त।

क्या आप जानते हैं?

हमारा शरीर केवल 70% कोलेस्ट्रॉल का उत्पादन करता है और शेष 30% हमारे द्वारा खाए गए भोजन से प्राप्त होता है।

कोलेस्ट्रॉल के प्रकार | Types of Cholesterol in Hindi

कोलेस्ट्रॉल मुख्यतः 3 प्रकार के होते हैं।

  1. कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (LDL)
  2. उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (HDL)
  3. बहुत कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (VLDL)

1. कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (Low-Density Lipoprotein)

कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन या Low Density Lipoprotein को “Bad Cholesterol” भी कहा जाता है। आमतौर पर, Bad Cholesterol शरीर के धमनियों में रक्त के थक्के बनने के कारण होता है। खराब कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ने से हार्ट अटैक और हार्ट स्ट्रोक जैसी खतरनाक बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है।

जब हमारे शरीर में LDL Cholesterol की मात्रा अधिक होती है, तो यह रक्त वाहिका की दीवार पर थक्के जमने लगता है। जिसके कारण शरीर में रक्त का प्रवाह सही तरीके से नहीं हो पाता है।

यदि हृदय को बराबर मात्रा में रक्त नहीं मिलता है, तो हार्ट अटैक जैसी गंभीर बीमारि भी हो सकती हैं, जिसके कारण इस Cholesterol को सबसे हानिकारक माना जाता है।

जो दो चीजें हमारे शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को सबसे ज्यादा बढ़ाती हैं, वह है मांश और तेल। इसके अलावा, कई अन्य चीजें भी खराब कोलेस्ट्रॉल को बढ़ावा देती हैं जैसे कि मैदा, मक्खन, मिठाई, सिगरेट, और घी।

इन बातों का ध्यान रखें!

गाय के घी के अलावा अन्य कोई भी घी शरीर में कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाता है। शराब पीने से कोलेस्ट्रॉल तेजी से बढ़ता है।

2. उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (High-Density Lipoprotein)

उच्च घनत्व वाले लिपोप्रोटीन या High Density Lipoprotein को “Good Cholesterol” भी कहा जाता है, जो हमारे शरीर के लिए अच्छा होता है। यह हमारी धमनियों से LDL कोलेस्ट्रॉल को हटाने में मदद करता है।

Read More:  डायरिया क्या है? लक्षण, कारण और उपचार | What is Diarrhea in Hindi?

जब एलडीएल धमनियों में रक्त के प्रभाव को अवरुद्ध करता है, तो एचडीएल कोलेस्ट्रॉल का उद्देश्य धमनियों में खराब कोलेस्ट्रॉल को साफ करके रक्त के प्रभाव को ठीक करना है।

3. बहुत कम घनत्व वाले लिपोप्रोटीन (Very-Low-Density Lipoprotein)

यह कोलेस्ट्रॉल मुख्य रूप से हृदय रोग का कारण है। इस वजह से, VLDL को LDL से अधिक हानिकारक माना जाता है।

उच्च कोलेस्ट्रॉल के लक्षण | Symptoms of High Cholesterol

जब शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक होती है, तो हमें गंभीर बीमारी का सामना करना पड़ सकता है। कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ने से मोटापा, मधुमेह और दिल के दौरे जैसी गंभीर बीमारियाँ हो सकती हैं।

उच्च कोलेस्ट्रॉल स्तर होने पर हमारे पास निम्न लक्षण दिखाई दे सकते हैं।

सीने में दर्द (Chest Pain)

सीने में दर्द शरीर में बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल के मुख्य लक्षणों में से एक है। जब कोलेस्ट्रॉल के जमाव के कारण आपके शरीर में रक्त धमनियां सख्त हो जाती हैं।

ऐसी स्थिति में, आपकी धमनियां इतनी संकुचित हो जाती हैं कि रक्त हृदय से अच्छी तरह से नहीं गुजरता है और आपको सीने में दर्द महसूस होता है।

गुर्दे में सूजन (Kidney Inflammation)

गुर्दे में सूजन से यह भी पता चलता है कि आपके शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ गया है। जब शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अधिक होती है, तो रक्त गुर्दे तक ठीक से नहीं पहुंच पाता है। तो ऐसी स्थिति में, आपके गुर्दे में सूजन आ जाती है।

गंभीर बीमारियों जैसे पैरों में तरल पदार्थों का निर्माण, उच्च रक्तचाप, गुर्दे की विफलता आदि कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने के कारण होते हैं।

पेट दर्द (Stomach Pain)

जब कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाती है, तो यह पेट में रक्त के प्रवाह को धीमा कर देता है। ऐसी स्थिति में आपकी नाभि के ऊपरी हिस्से में दर्द शुरू हो जाता है।

विशेष रूप से, यह दर्द खाने के आधे घंटे के बाद होता है। अगर पेट दर्द घंटों तक रहता है, तो यह आपके लिए बिल्कुल भी अच्छा नहीं है।

ऐसी स्थिति में, कभी-कभी आपको सर्जरी करानी पड़ सकती है। इसलिए, आपको इसे ध्यान में रखना चाहिए।

पित्ताशय की पथरी (Gallstones)

शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने का अगला लक्षण पित्त पथरी है। पित्त पथरी की उपस्थिति भी बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल का एक लक्षण है।

जब शरीर में कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाती है, तो यह पित्ताशय में जमने लगता है और धीरे-धीरे पथरी का रूप ले लेता है। इससे, आपके पेट के दाहिनी ओर दर्द होता है।

यदि सही समय पर इसका इलाज नहीं किया जाता है, तो यह पित्ताशय को पूरी तरह से अवरुद्ध कर देता है। इस वजह से, आपका अग्न्याशय सूजन हो जाता है।

Read More:  भूख न लगने के कारण और उपचार | Loss of Appetite Treatment in Hindi

फैटी लीवर (Fatty Liver)

रक्त में अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल हमारे जिगर को नुकसान पहुंचा सकता है। जैसे-जैसे लीवर में वसा की मात्रा बढ़ती है, हमें फैटी लीवर की बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता है।

कोलेस्ट्रॉल कम करने के घरेलू उपाय | Home Remedies to Lower Cholesterol

आजकल हमारे जीने का तरीका इतना बदल गया है, हम अपने खाने पर अच्छा ध्यान नहीं दे पा रहे हैं और हमारे शरीर को बहुत नुकसान उठाना पड़ता है। इसके कारण, हमें कई समस्याओं का भी सामना करना पड़ता है।

अब हम शरीर में बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को कम करने के बारे में बात करेंगे और कुछ घरेलू उपचारों के बारे में भी जानेंगे जो बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को आसानी से कम कर सकते हैं।

1. मेथी के बीज (Fenugreek Seeds)

यह कोलेस्ट्रॉल के स्तर (reducing cholesterol levels) को कम करने में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इन मेथी के बीजों में उत्कृष्ट फाइबर पोषक तत्व होते हैं।

इसके साथ ही, इसमें आयरन, मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, मैंगनीज और कॉपर जैसे खनिज भी उच्च मात्रा में पाए जाते हैं। मेथी के बीज में प्रभावी एंटीडायबिटिक, रोगाणुरोधी, एंटी-ऑक्सीडेंट, और एंटीवायरल गुण भी होते हैं।

उपयोग विधि
  1. यह एक बहुत ही सरल घरेलू उपाय है और जिन लोगों ने इसका उपयोग किया है वे निश्चित रूप से लाभान्वित हुए हैं।
  2. इस उपाय को करने के लिए एक चम्मच मेथी के दानों को एक गिलास पानी में भिगोकर रात भर रख दें।
  3. सुबह उस पानी को खाली पेट पिएं और फिर उसमें से मेथी दाना खाएं।
  4. आपको यह प्रक्रिया तब तक करनी है जब तक आपका कोलेस्ट्रॉल कम नहीं हो जाता। ऐसा आप 3 महीने तक लगातार कर सकते हैं।
फायदे

यह एक प्रभावी प्रक्रिया है जिससे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में लाभ होगा। ये मेथी के बीज आपके कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) और साथ ही आपके शरीर के ट्राइग्लिसराइड्स (Triglycerides) को कम करने में मदद करते हैं।

यदि रक्त शर्करा की मात्रा (Blood Sugar Level) में वृद्धि हुई है, तो इसे कम करने में भी मदद मिलेगी। यह शरीर के उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने में भी मदद करता है।

2. लौकी का जूस (Gourd Juice)

खराब कोलेस्ट्रॉल (Bad cholesterol) को कम करने के लिए आप इस उपाय को भी अपना सकते हैं। यह उपाय भी बहुत प्रभावी है और लाखों लोगों ने इस उपाय को अपनाकर कोलेस्ट्रॉल को कम किया है।

उपयोग विधि
  1. रोज सुबह खाली पेट एक गिलास लौकी का जूस पिएं।
  2. इस जूस को बनाते समय 5 पुदीने की पत्तियां, 5 तुलसी के पत्ते और थोड़ा सा काला नमक मिलाएं।
  3. अब यह जबरदस्त ड्रिंक तैयार हो जाएगा। सुबह फ्रेश होने के बाद आपको इसका सेवन करना है।
Read More:  सीने में जलन के कारण, लक्षण और इलाज | Heartburn in Hindi
फायदे

यह न केवल आपके कोलेस्ट्रॉल को सही करेगा, बल्कि यह आपके दिल की धमनियों में जमा होने वाले थक्के को भी साफ करेगा। दिल भी मजबूत हो जाएगा।

इसे नियमित रूप से पीने से रक्त की अम्लता गायब हो जाएगी, जिसके कारण शरीर में जमा रक्त पतला हो जाएगा। यह आपको उच्च कोलेस्ट्रॉल, उच्च रक्तचाप, चीनी की समस्या, पक्षाघात, मस्तिष्क आघात, और दिल के दौरे जैसी घातक बीमारियों से राहत देगा।

3. लहसुन (Garlic)

लहसुन कोलेस्ट्रॉल के रोगियों के लिए किसी रामबाण औषधि से कम नहीं है। इसे नियमित घरेलू सब्जियों में शामिल करके या इसकी चटनी बनाकर खाया जा सकता है।

रोजाना सुबह 3 से 4 कच्चे लहसुन को चबाने से शरीर में खराब कोलेस्ट्रॉल का उत्पादन कम हो जाता है।

4. प्याज (Onion)

उच्च कोलेस्ट्रॉल को कम करने में प्याज बहुत फायदेमंद है। लाल प्याज खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करके अच्छे कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाता है। यह हृदय रोग होने की संभावना को भी कम करता है।

उपयोग विधि
  1. एक प्याज को बारीक काट लें और इसे एक कप छाछ में मिलाएं।
  2. अब इसमें 4 चम्मच काली मिर्च डालकर अच्छे से मिलाएं।
  3. इस मिश्रण को नियमित रूप से पियें।
फायदे

अगर आप रोजाना अपने आहार में आधा प्याज शामिल करते हैं, तो यह आपके खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करता है।

5. धनिया के बीज (Coriander Seeds)

इसके अलावा, धनिया बीज खराब कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड्स के स्तर को कम करने में बहुत मदद करता है।

उपयोग विधि
  1. एक कप पानी में दो चम्मच धनिया बीज पाउडर मिलाएं।
  2. अब इस मिश्रण को उबालें और छान लें।
  3. इस पानी को दिन में दो बार सुबह और शाम पिएं।
  4. आप इसमें दूध और चीनी मिला सकते हैं और इसे अपनी दैनिक चाय के रूप में पी सकते हैं।
फायदे

इसे नियमित रूप से लेने से Low Density Lipoprotein की मात्रा को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

सारांश | Summary

ये सभी घरेलू उपचार बहुत प्रभावी तरीके हैं जिनके द्वारा आप लंबे समय में अपने कोलेस्ट्रॉल के स्तर (Cholesterol Level) को कम कर सकते हैं।

इन घरेलू उपचारों का उपयोग करके, आप न केवल अपने बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को कम कर सकते हैं, बल्कि जीवन-धमकाने वाली बीमारियों को भी रोक सकते हैं।

References

  • Sajad Ahmad Wani, Pradyuman Kumar. Fenugreek: A review of its nutraceutical properties and utilization in various food products. Journal of the Saudi Society of Agricultural Sciences. 2018 Apr;17(2):97-106. https://doi.org/10.1016/j.jssas.2016.01.007
  • Tattelman E. (2005). Health effects of garlic. American family physician, 72(1), 103–106. https://pubmed.ncbi.nlm.nih.gov/16035690/
  • Park, J., Kim, J., & Kim, M. K. (2007). Onion flesh and onion peel enhance antioxidant status in aged rats. Journal of nutritional science and vitaminology, 53(1), 21–29. https://doi.org/10.3177/jnsv.53.21

Leave a Comment