कब्ज के कारण, लक्षण और घरेलू उपचार | Constipation Treatment in Hindi

कब्ज (Constipation) दुनिया में सबसे आम पाचन समस्याओं में से एक है जिससे ज्यादातर लोग पीड़ित हैं। कब्ज से पीड़ित लोग बार-बार मल त्याग करने की समस्या से परेशान रहते हैं और इसका मुख्य कारण रोजाना पर्याप्त मल त्याग नहीं कर पाना होता है।

इस लेख में हम Constipation के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिश करेंगे जो हमारे चिकित्सा विशेषज्ञ की देखरेख में लिखी गई है। इसके अलावा हम बात करेंगे कब्ज से जुड़े उन तमाम पहलुओं के बारे में जो आपके लिए जानना बेहद जरूरी है।

अन्य नाम (Other Name)Constipation, Costiveness, Dyschezia
विशेषता (Specialty)Gastroenterology
लक्षण (Symptoms)मल त्याग करने में कठिनाई, पेट दर्द, सूजन
जटिलता (Complication)Hemorrhoids, Anal Fissure, Fecal Impaction
कारण (Causes)कोलन के भीतर मल की धीमी गति, इरीटेबल बाउल सिंड्रोम, सीलिएक रोग, नॉन-सीलिएक रोग, पेल्विक फ्लोर डिस्फंक्शन
जोखिम (Risk Factors)हाइपोथायरायडिज्म, मधुमेह, पार्किंसंस रोग, गलूटेन-रिलेटेड डिसऑर्डर्स, पेट का कैंसर, ओवेरियन कैंसर, डाइवरटिकुलटिस, प्रदाहक आन्त्र रोग (IBD), कुछ दवाएं
इलाज (Treatment)पर्याप्त तरल पदार्थ पीना, अधिक फाइबर युक्त खाद्यपदार्थ खाना, व्यायाम करना
चिकित्सा (Medications)लैक्सटिव, आसमाटिक एजेंट, स्टूल सॉफ़्टनर

कब्ज क्या है? | What is Constipation in Hindi?

हम में से ज्यादातर लोग सोचते हैं कि रोजाना मल त्याग करने से उन्हें कब्ज़ नहीं होगा, वास्तव में Constipation इससे कहीं अधिक जटिल है। आम तौर पर, सप्ताह में तीन बार से कम मल त्याग करना कब्ज का लक्षण हो सकता है।

Constipation पाचन तंत्र की एक समस्या है जिसके कारण मल सख्त होता है और मल त्याग करने में कठिनाई होती है। ज्यादातर मामलों में ऐसा इसलिए होता है क्योंकि भोजन पाचन तंत्र से बहुत धीरे-धीरे गुजरता है।

पाचन तंत्र के माध्यम से भोजन जितना धीमा चलता है, उतना ही अधिक पानी कोलन अवशोषित करता है। नतीजतन, मल शुष्क और कठोर हो जाता है। जब ऐसा होता है तो आंतों को खाली करने में बड़ी कठिनाई और दर्द हो सकता है।

कब्ज के लक्षण | Symptoms of Constipation in Hindi

यदि आपने पिछले तीन महीनों में निम्नलिखित में से दो या अधिक लक्षणों का अनुभव किया है, तो यह कब्ज हो सकता है। कब्ज के लक्षणों में शामिल हैं:

  • एक सप्ताह में तीन से कम मल त्याग
  • ढेलेदार या सख्त मल होना
  • मल त्याग को पूरा करने के लिए जोर लगाना
  • मलाशय में रुकावट की भावना
  • मलाशय से मल को पूरी तरह से खाली करने में असमर्थता
  • मल को मलाशय से बाहर निकालने के लिए हाथों से पेट पर दबाव डालना
  • मलाशय से मल को बाहर निकालने के लिए उंगली का उपयोग करना

कब्ज का कारण | Cause of Constipation in Hindi

Constipation आमतौर पर तब होता है जब अपशिष्ट या मल पाचन तंत्र के माध्यम से बहुत धीमी गति से चलता है। इससे मल बहुत सख्त और शुष्क हो जाता है। जिससे मलाशय से मल को पूरी तरह और प्रभावी ढंग से बाहर निकालने में कठिनाई होती है।

Read More:  मासिक धर्म (पीरियड्स) क्या है? | What is Period in Hindi?

भौतिक निष्क्रियता (Physical Inactivity)

Constipation का एक और बहुत ही सामान्य कारण physical inactivity है। शारीरिक गतिविधि के निम्न स्तर से भी कब्ज हो सकता है।

2014 के एक अध्ययन ने निष्कर्ष निकाला कि नियमित व्यायाम के रूप में शारीरिक गतिविधि बढ़ाने से किशोरों में कब्ज में सुधार होता है।

कुछ अध्ययनों में यह भी पाया गया है कि मैराथन धावकों सहित शारीरिक रूप से फिट लोगों को अन्य लोगों की तुलना में constipation का अनुभव होने की संभावना कम होती है। हालांकि, इसके सटीक कारण स्पष्ट नहीं हैं।

लेकिन जो लोग कुछ चिकित्सीय स्थितियों के कारण बिस्तर या कुर्सी पर कई दिन या सप्ताह बिताते हैं, उनमें कब्ज होने की संभावना अधिक होती है।

निर्जलीकरण (Dehydration)

निर्जलीकरण constipation के सबसे आम कारणों में से एक है। आप जो भोजन करते हैं वह आपके पेट से बड़ी आंत या कोलन तक जाता है।

यदि आपके शरीर में पहले से ही पर्याप्त पानी नहीं है तो बड़ी आंत आपके food waste से पानी सोख लेती है। इससे आपके मल सख्त हो जाते हैं जिन्हें पास करना मुश्किल होता है।

फाइबर की कमी (Lack of Fiber)

Constipation के सबसे आम कारणों में से एक फाइबर युक्त भोजन का कम सेवन हो सकता है। आहार में फाइबर की कमी के कारण कोलन की गति धीमी हो जाती है, जिससे कब्ज होने की संभावना बढ़ जाती है।

फाइबर युक्त भोजन का अधिक सेवन करने वाले लोगों को कब्ज का अनुभव होने की संभावना कम होती है।

कब्ज के लिए जिम्मेदार रोग

  • कम फाइबर युक्त आहार का सेवन
  • पर्याप्त तरल पदार्थ नहीं पीना
  • अत्यधिक मांस या चिकन खाना
  • कोलन सर्जरी
  • मधुमेह
  • जठरांत्र संबंधी विकार (gastrointestinal disorder)
  • गर्भावस्था

कब्ज के लिए जिम्मेदार दवाएं

कब्ज का उपचार | Constipation Treatment in Hindi

कब्ज का उपचार (Constipation Treatment in Hindi) आमतौर पर आहार और जीवनशैली में बदलाव के साथ शुरू होता है, जिसका उद्देश्य उस गति को बढ़ाना है जिस पर मल आपकी आंतों से होकर गुजरता है। यदि वे परिवर्तन मदद नहीं करते हैं, तो आपका डॉक्टर दवाओं या सर्जरी की सिफारिश कर सकते हैं।

फाइबर का सेवन बढ़ाएं

कब्ज के इलाज में आहार संशोधन सबसे महत्वपूर्ण कदम है। यह आपके द्वारा ली जाने वाली किसी भी अन्य दवा की तुलना में अधिक महत्वपूर्ण है क्योंकि दवाएं केवल कब्ज के short-term प्रकरण में सुधार कर सकती हैं।

ज्यादातर मामलों में, कब्ज होने का असली कारण फाइबर का कम सेवन, जंक फूड का अत्यधिक सेवन और नियमित रूप से अपने आहार में high sugar foods को शामिल करना हो सकता है।

इसलिए पहला और सबसे महत्वपूर्ण आहार संशोधन जो आपको लागू करना चाहिए, वह है अपने आहार में अधिक फाइबर शामिल करना। ऐसा इसलिए है क्योंकि फाइबर नियमित मल त्याग को बढ़ावा देता है।

फाइबर युक्त आहार आपके मल के वजन और आकार को बढ़ाता है और उसे नरम भी करता है। भारी मल मलाशय से आसानी से निकल जाता है, जिससे Constipation की संभावना कम हो जाती है।

उच्च फाइबर युक्त खाद्य पदार्थों में शामिल हैं:

  • फल
  • सब्जियां
  • साबुत अनाज
  • पागल
  • दाल, चना और अन्य फलियां

जुलाब

कभी-कभी आप कब्ज से निपटने के लिए laxatives का उपयोग कर सकते हैं। बाजार में कई प्रकार के जुलाब उपलब्ध हैं और हर एक मल त्याग को आसान बनाने का काम करता है।

Read More:  अस्थमा (दमा) क्या है? कारण, लक्षण और उपचार | Asthma in Hindi

फाइबर सप्लीमेंट: Fiber supplement आपके मल में बल्क जोड़ती है, जिससे भारी मल नरम होता है और आसानी से निकल जाता है।

उत्तेजक: उत्तेजक आपकी आंतों को सिकुड़ने में मदद करती है जिसके कारण मल आसानी से बाहर निकल जाता है।

आसमाटिक: Osmotic laxatives आंतों से तरल पदार्थ के स्राव को बढ़ाकर काम करते हैं, जो मल त्याग को प्रोत्साहित करता है। यह मल को बृहदान्त्र के माध्यम से स्थानांतरित करने में मदद करता है।

स्नेहक: Lubricant मल को आपके बृहदान्त्र के माध्यम से अधिक आसानी से स्थानांतरित करने में सक्षम बनाता है।

मल सॉफ़्नर: Stool softener आंतों से पानी निकालकर मल को नम करते हैं, जिससे मल त्याग करने में आसानी होती है।

बहुत सारा पानी पियें

अगला आहार परिवर्तन जिस पर आपको ध्यान देने की आवश्यकता है वह है ढेर सारा पानी पीना। आपको खूब सारा पानी और अन्य तरल पदार्थ जैसे मीठे फलों के रस, सब्जियों के रस और सूप का सेवन करना चाहिए। ये सभी तरल पदार्थ फाइबर को बेहतर ढंग से काम करने में मदद करते हैं, जिससे मल नरम हो जाता है और आसानी से निकल जाता है।

आहार में प्रोबायोटिक्स शामिल करें

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि हमारे पेट में स्वस्थ बैक्टीरिया होते हैं जिन्हें हम probiotics bacteria कहते हैं। ये हमारे भोजन के उचित पाचन के लिए बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

Probiotics जीवित बैक्टीरिया होते हैं जो पाचन तंत्र के लिए अच्छे होते हैं। ये बैक्टीरिया मल को नरम करने में मदद करते हैं, जिससे मल त्याग करना आसान हो जाता है। इसके अलावा, Probiotics bacteria साप्ताहिक मल त्याग की संख्या में वृद्धि करते हैं, जिससे constipation से बचना आसान हो जाता है।

पैल्विक मांसपेशी व्यायाम

पैल्विक मांसपेशियों को कसने के लिए डॉक्टर व्यायाम के माध्यम से आपका मार्गदर्शन कर सकते हैं। ये व्यायाम आपकी पैल्विक मांसपेशियों को फैलाते हैं और मजबूत करते हैं, जिससे मल त्याग करना आसान हो जाता है।

कब्ज की अंग्रेजी दवा | Medicines for Constipation

1. Evict Syrup

Evict Syrup Uses in Hindi
Evict Syrup Uses in Hindi

Evict सिरप एक रेचक (laxative) है, जिसमें Lactose नामक घटक होता है, जिसे कब्ज से राहत दिलाने में बहुत प्रभावी माना जाता है।

कब्ज के दौरान मल त्याग करना बहुत मुश्किल होता है और आंत में पानी की कमी इसका एक प्रमुख कारण हो सकता है। ऐसे में इस समस्या से निजात पाने के लिए Evict सिरप महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

2. Duphalac Syrup

Duphalac Syrup Uses in Hindi
Duphalac Syrup Uses in Hindi

Duphalac Syrup एक बहुत अच्छा Laxative के रूप में जाना जाता है, जो कब्ज से राहत दिलाने में बहुत सहायक है। इसका उपयोग मुख्य रूप से कब्ज और उनसे जुड़ी समस्याओं को दूर करने के लिए किया जाता है।

इसके अलावा, Duphalac सिरप liver encephalopathy जैसी बीमारी से छुटकारा दिलाने में मदद करता है, जो कि एक गंभीर लिवर बीमारी है। मुख्य रूप से कहा जाए तो, Duphalac Syrup कब्ज और हेपेटिक एन्सेफ्लोपैथी की समस्या से राहत दिलाने में मदद करता है।

इसके अलावा कब्ज की अन्य अंग्रेजी दवाएँ निम्नलिखित हैं:

कब्ज से बचने के लिए भोजन | Food to Avoid in Constipation

Constipation को होने से रोकने के लिए निम्नलिखित खाद्य पदार्थों का सेवन करने से बचना चाहिए।

Read More:  हर्निया के लक्षण, प्रकार, कारण, इलाज | Hernia in Hindi

शराब

शराब को अक्सर constipation के संभावित कारण के रूप में उद्धृत किया जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यदि आप अधिक मात्रा में शराब पीते हैं तो यह एंटीडाययूरेटिक हार्मोन (ADH) के स्राव को कम करता है, जो आपके शरीर में पानी की पर्याप्त मात्रा बनाए रखने के लिए जाना जाता है।

Antidiuretic hormone की मात्रा कम होने पर अधिक पेशाब होता है जिससे निर्जलीकरण हो सकता है। Dehydration होने के कारण constipation होने के खतरा बना रहता है।

ग्लूटेन युक्त खाद्य पदार्थ

एक अन्य प्रकार का भोजन जिसे constipation का एक प्रमुख कारण माना जाता है, वह है ग्लूटेन युक्त खाद्य पदार्थ।

Gluten एक प्रोटीन है जो गेहूं, जौ और राई जैसे अनाज में पाया जाता है। कुछ लोगों को ग्लूटेन युक्त खाद्य पदार्थ खाने पर कब्ज का अनुभव हो सकता है।

कुछ लोग ग्लूटेन के प्रति असहिष्णु भी होते हैं। यह एक ऐसी स्थिति है जिसे ग्लूटेन असहिष्णुता या celiac disease के रूप में जाना जाता है।

दूध और डेयरी उत्पाद

दूध और डेयरी उत्पाद कुछ लोगों के लिए constipation का एक और आम कारण हो सकते हैं। गाय के दूध में पाए जाने वाले प्रोटीन के प्रति संवेदनशीलता के कारण शिशुओं और बच्चों को कब्ज होने का खतरा होता है। इसी तरह, वयस्कों को भी कब्ज होने का खतरा होता है।

रेड मीट

आपको रेड मीट का सेवन भी कम करना चाहिए। रेड मीट कई कारणों से कब्ज को खराब कर सकता है।

आम तौर पर, अन्य प्रकार के मांस की तुलना में red meat में अधिक मात्रा में वसा होता है और उच्च वसा वाले खाद्य पदार्थ शरीर को पचाने में अधिक समय लगता है। कुछ मामलों में यह कब्ज की संभावना को और भी बढ़ा सकता है।

घर पर कब्ज का इलाज | Constipation Treatment at Home in Hindi

जीवनशैली में कुछ बदलाव करके आप constipation से छुटकारा पा सकते हैं। निम्नलिखित को अपने जीवन में लागू करने से constipation को प्रबंधित करने में मदद मिल सकती है।

नियमित रूप से व्यायाम करें

विशेषज्ञों के अनुसार, व्यायाम आपके दिल और अन्य मांसपेशियों को टोन करने में मदद करता है। इसके अलावा, नियमित मल त्याग के लिए व्यायाम करना आवश्यक है।

वास्तव में constipation जैसी बीमारी का कारण बनने वाली प्रमुख चीजों में से एक निष्क्रियता है। प्रतिदिन लगभग 30 मिनट का मध्यम व्यायाम आपके शरीर के लिए बहुत अच्छा है।

तनाव प्रबंधन

तनाव कई मूल्यों से कब्ज पैदा करने वाला कारक है। इसलिए आपको अपने तनाव को काफी हद तक मैनेज करने की जरूरत है। इसके लिए आप मेडिटेशन और योगा की मदद ले सकते हैं।

आंत्र पुनर्प्रशिक्षण 

आंत्र पुनर्प्रशिक्षण महत्वपूर्ण है क्योंकि यह उन लोगों की मदद करता है जिन्हें पुरानी कब्ज है। यह आपके शरीर को नियमित मल त्याग करने के लिए प्रशिक्षित करने में मदद करता है। इसमें हर दिन एक ही समय पर बाथरूम जाने की कोशिश करना शामिल है।

कब्ज के घरेलू उपचार | Home Remedies for Constipation in Hindi

जीवनशैली में कुछ और मामूली बदलाव करके आप constipation को दूर कर सकते हैं।

  • प्रत्येक दिन लगभग एक ही समय पर अपना भोजन करें।
  • जागने के तुरंत बाद एक गिलास पानी पिएं।
  • कुछ हल्का व्यायाम करें जैसे नाश्ते और रात के खाने के बाद टहलना।
  • अपने लंच ब्रेक के बाद 20 मिनट की सैर करें।
  • दिन में नाश्ते के रूप में खाने के लिए फलों का प्रयोग करें।
  • सफेद चावल की जगह ब्राउन राइस खाएं।
  • पर्याप्त नींद प्राप्त करें।
  • जब आपको मल त्याग करने की इच्छा हो तो तुरंत बाथरूम का उपयोग करें।

References

Huang R, Ho SY, Lo WS, Lam TH. Physical activity and constipation in Hong Kong adolescents. PLoS One. 2014;9(2):e90193. Published 2014 Feb 28. https://doi.org/10.1371/journal.pone.0090193

Leave a Comment